ब्रेकिंग न्यूज़

राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस आज

सबसे पहले शेयर करें

शहडोल/शुभम् सिंह बिसेन 01/07/2021

“If You’re once a Doctor You’re always a Doctor”

अंग्रेजी में लिखी हुई इन पंक्तियों का मतलब है अगर आप एक बार डॉक्टर बनते हैं तो आप हमेशा के लिए डॉक्टर होते हैं। इस कोरोना संक्रमण से फैली हुई महामारी ने कितनी जानें लील ली,लोग घरों में बैठे हुए थे और इस बीच संक्रमित व्यक्तियों की जान बचाने की कोशिश में जुटे हुए थे कुछ लोग सफेद कोट डाल,गले में स्टेथेस्कोप और पी पी ई किट के अंदर पसीने से सराबोर बिना अपनी जान की परवाह किए हुए अपनी जान जोखिम में डाल लोगों की जान बचाते हुए।

आईए आज जानते हैं ऐसी ही एक शख्सियत के बारे में

उमर तो छोटी है लेकिन जिम्मेदारी बड़ी निभा रहे हैं…..

कहते हैं आत्मविश्वास और दृढ़ इच्छाशक्ति इंसान के अंदर हो तो इंसान के लिए कुछ भी कर पाना असंभव नहीं होता। उसी का एक अनुपम उदाहरण है, जिला अस्पताल के कोविड आईसीयू मे फिजियोथेरेपी की सेवा दे रहे डाॅ नीलेश कुमार यादव जो पेशे से एक फिजियोथेरेपिस्ट है। कोरोना संक्रमण की कठिन परिस्थितियों में भी अपने कर्तव्यपथ मार्ग पर चलते हुए अपनी सेवाएं दी।

यहां तक कि परिवार में चार लोग एक साथ कोविड पाॅज़िटिव और नीलेश कुमार यादव अपनी सेवा के दौरान खुद भी कोविड पाॅज़िटिव हो गये थे।

नीलेश कुमार यादव की कोरोना संक्रमण के दौरान महती भूमिका का निर्वहन बखूबी किया जो बहुत ही सराहनीय है। उन्होंने धैर्य और संयम के साथ कोरोना महामारी बचाव के लिए जिस मेहतन एवं लगन से कार्य किया है वह अनुकरणीय है और सभी के लिए प्रेरणा स्त्रोत है।

नीलेश कुमार यादव का कहना है कि मन में विश्वास हो तो कुछ भी कर पाना संभव है, मैंने ऐसी सोच को अपनाते हुए अपनी सेवाएं मानव के प्राण बचाने हेतु प्रयोग किया है तथा अपने हौसलों के साथ जनसेवा की भावना आत्मसात किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *