मध्यप्रदेश

“नो मास्क नो सर्विस” एवं “नो वैक्सीनेशन नो सर्विस” का किया जाए पालन-कलेक्टर

सबसे पहले शेयर करें

शहडोल 07/06/2021

शुभम् सिंह बिसेन की रिपोर्ट

कलेक्टर ने छूट हेतु जारी किए प्रतिबंधात्मक आदेश
शनिवार की रात्रि 10:00 बजे से सोमवार प्रातः 6:00 बजे तक रहेगा जनता कर्फ्यू
विवाह में 20 तथा अंतिम संस्कार में 10 लोगों को होगी अनुमति

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ० सतेन्द्र सिंह ने दंड प्रक्रिया संहिता 1993 की धारा 144 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 में प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए शहडोल जिले में छूट प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए हैं।

जारी आदेश में जिला अंतर्गत समस्त नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिबंधित गतिविधियों में सभी सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक आयोजन एवं मेले आदि से कार्यक्रम जिसमें जनसमूह एकत्रित होता है। स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। ऑनलाइन क्लासेस चल सकेगी। सभी सिनेमाघर, शॉपिंग मॉल, स्विमिंग पूल, थिएटर, पिकनिक स्पॉट, ऑडिटोरियम, सभागृह बंद रहेंगे। सभी धार्मिक, पूजा स्थल पर एक समय में 4 से अधिक व्यक्ति उपस्थित नहीं रह सकेंगे, अत्यावश्यक सेवाएं का कार्य करने वाले कार्यालयों को छोड़कर शेष कार्यालय 100% अधिकारियों एवं 50% कर्मचारियों के साथ संचालित किए जा सकेंगे। अत्यावश्यक सेवा में जिला कलेक्ट्रेट, पुलिस, आपदा प्रबंधन, फायर, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा, जेल, राजस्व, पेयजल आपूर्ति, नगरीय प्रशासन, ग्रामीण विकास, विद्युत, प्रदाय सार्वजनिक, परिवहन, कोषालय, पंजीयन, बैंक, डाकघर सम्मिलित हैं। अधिकतम 10 लोगों के साथ अंतिम संस्कार की अनुमति रहेगी। विवाह में दोनों पक्षों को मिलाकर अधिकतम 20 लोगों के साथ ही अनुमति रहेगी। इस प्रयोजन के लिए आयोजक को संबंधित अनुविभागीय अधिकारी एवं उपखंड मजिस्ट्रेट को अतिथियों के नाम की सूची आयोजन के तीन दिवस के पूर्व तक प्रदान किया जाना अनिवार्य होगा, संपूर्ण शहडोल जिले में प्रत्येक शनिवार की रात्रि 10:00 बजे से सोमवार की प्रातः 6:00 बजे तक जनता कर्फ्यू रहेगा, संपूर्ण शहडोल जिले में प्रत्येक दिवस (सोमवार से शुक्रवार) रात्रि 10:00 से प्रातः 6:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू प्रभावी रहेगा तथा रूल ऑफ़ सिक्स- अनुमत्य गतिविधियों के अतिरिक्त किसी भी सार्वजनिक स्थल पर 6 से अधिक व्यक्तियों के एकत्रित होने पर प्रतिबंध होगा।
कलेक्टर ने जिला अंतर्गत समस्त नगरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिबंध से मुक्त गतिविधियों में से समस्त प्रकार के उद्योग एवं औद्योगिक गतिविधियां चालू रहेंगी। इस कार्य हेतु उद्योग से जुड़े अधिकारियों, कर्मचारियों तथा श्रमिकों को वैध आईडी कार्ड के साथ आने जाने की अनुमति रहेगी साथ ही सभी अधिकारियों, कर्मचारियों एवं श्रमिकों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य होगा। उद्योगों के लिए कच्चा माल एवं तैयार माल के आवागमन पर किसी प्रकार की रोक नहीं होगी। अस्पताल, नर्सिंग होम, क्लीनिक, मेडिकल, इंश्योरेंस कंपनीज अन्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा सेवाएं पशु चिकित्सा सेवाएं चालू रहेंगे। केमिस्ट, सार्वजनिक वितरण प्रणाली की राशन दुकान है सुबह 9:00 बजे से लेकर सायं 6:00 बजे तक खोले जाने की अनुमति होगी। पेट्रोल, डीजल पंप, गैस स्टेशन, रसोई गैस पूरी तरह से चालू रहेंगे। सभी कृषि गतिविधियों को अनुमति होगी, कृषि उपज मंडी खोले जाने की अनुमति होगी। बैंक, बीमा कार्यालय एवं एटीएम प्रारंभ रहेंगे। प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया तथा केवल ऑपरेशंस की अनुमति रहेगी। बैंक इंश्योरेंस से जुड़े संस्थानों के कोऑपरेटिव क्रेडिट सोसाइटी, कैश मैनेजमेंट एजेंसी संचालक एवं आवागमन की अनुमति है, सभी प्रकार के सामानों और माल की आवाजाही बिना किसी रोक-टोक के जारी रहेगी। सार्वजनिक परिवहन, निजी, बसों, ट्रेनों के माध्यम से कोविड-19 के दिशा निर्देशों के साथ अनुमति होगी। कोल्ड स्टोरेज एवं वेयरहाउसिंग की सर्विस की अनुमति रहेगी। ई-कॉमर्स कंपनियों से तथा अत्यावश्यक वस्तुओं की दुकानों से होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। येलो तथा ग्रीन जोन के ग्रामों में समस्त मनरेगा कार्य, ग्रामीण विकास कार्य एवं अन्य विभागों के निर्माण कार्य तथा तेंदूपत्ता संग्रहण के कार्य कोविड-19 महामारी की रोकथाम के एसओपी का पालन करते हुए जारी रखे जाने की अनुमति होगी। जिला अंतर्गत परंपरागत रूप से लेबर मार्केट कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन की शर्ते पर चालू किए जा सकेंगे। एंबुलेंस ऑक्सीजन, टैंकर्स का आवागमन निर्बाध रूप से जारी रहेगा। अस्पताल एवं नर्सिंग होम और टीकाकरण हेतु आवागमन कर रहे नागरिकों एवं कर्मियों को छूट रहेगी। मेंटेनेंस सर्विस देने वाले, इलेक्ट्रिशियन, प्लंबर, कारपेंटर, मोटर मकैनिक, आईटी सर्विस, प्रोवाइडर आदि के आवागमन पर रोक नहीं होगी। परीक्षा केंद्र में आने जाने वाले विद्यार्थी तथा परीक्षा केंद्र एवं परीक्षा आयोजन से जुड़े कर्मचारी एवं अधिकारीगण के आवागमन पर छूट रहेगी। उपार्जन गतिविधियों पर कोई रोक नहीं होगी तथा सतत रूप से उपार्जन संचालित किया जाएगा। निजी सुरक्षा सेवाओं की अनुमति होगी। घरेलू सेवा देने वाले यथा- धोबी, ड्राइवर, हाउसहेल्प, मेड, कुक आदि के आवागमन पर रोक नहीं होगी। फायर ब्रिगेड, टेलीकम्युनिकेशन, विद्युत प्रदाय, रसोई गैस, पेट्रोल, डीजल, केरोसिन टैंकर, होम डिलीवरी सेवाएं, दूध, एकत्रीकरण वितरण फल सब्जी के परिवहन एवं कोरियर सेवाओं के आवागमन पर कोई बाधा नहीं होगी। जिले के व्यक्तियों और वस्तुओं के अन्य जिलों एवं राज्यों में आवागमन निर्बाध रूप से संचालित रहेगा। जिले में अन्य जिलों एवं राज्यों से प्रवेश करने वाले नागरिकों की थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की जाएगी।
कलेक्टर डॉ० सतेन्द्र सिंह ने जारी आदेश में कहा है की दुकानों में गोला बनाकर ग्राहकों के मध्य पर्याप्त दूरी सुनिश्चित कर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए। “नो मास्क नो सर्विस” अर्थात जिस ग्राहक ने फेस मास्क नहीं पहन रखा होगा तो उसको दुकानदार द्वारा कोई सामान विक्रय नहीं किया जाएगा। दुकानदार स्वयं भी अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग करेंगे। यदि कोई दुकानदार “नो मास्क नो सर्विस” प्रोटोकॉल का उल्लंघन करता पाया गया तो दुकानदार को नियमानुसार सील करने की कार्यवाही की जाएगी।
उपरोक्त प्रतिबंधित से मुक्त दुकान एवं संस्थानों तथा अन्य सभी सेवाओं में संलग्न व्यक्तियों को निर्देशित किया गया है कि स्वत: अपना वैक्सीनेशन कराकर प्रमाण पत्र स्वरूप वैक्सीनेशन कार्ड अपने पास रखें एवं यह भी सुनिश्चित करें कि आने वाले ग्राहकों का वैक्सीनेशन भी शत-प्रतिशत हो।
शहडोल जिले में पॉजिटिविटी रेट 5% से कम है। क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में उपरोक्त निर्णय लिए गए हैं जो इस प्रकार हैं। शहडोल जिले के नगरी क्षेत्रों में सोमवार के दिन बाय तरक्की दुकानें एवं अगले दिन मंगलवार को दाएं तरफ की दुकानें और इसी क्रम में आगे बुधवार एवं गुरुवार तक दुकानें खोले जाने का निर्णय लिया गया है। इसके बाद जिले की परिस्थितियों पर पुनः विचार कर आगे निर्णय लिया जाएगा। दाएं एवं बाएं के संबंध में शहडोल जिले के नगरी क्षेत्रों में नोडल प्वाइंट मुडना नदी से रेलवे स्टेशन की रोड होगी एवं इसी तारतम्य में हर गली एवं रोड का मोड माना जाएगा। शहडोल जिला अंतर्गत अन्य नगरी क्षेत्रों में संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एवं उपखंड मजिस्ट्रेट, प्रशासक, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस, मुख्य नगरपालिका अधिकारी एवं व्यापारी संघ दाएं बाएं के संबंध में बैठकर निर्णय लेंगे। उक्त का उल्लंघन करते पाए जाने वाले प्रतिष्ठानों को 15 जून 2021 तक सील किया जा सकेगा।
जारी आदेश में कलेक्टर ने कहा है कि बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि “नो मास्क नो सर्विस” एवं “नो वैक्सीनेशन नो सर्विस” का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। शहडोल जिले के समस्त नगरी क्षेत्रों में स्थित चौपाटी रख बंद रखे जाने का निर्णय लिया गया है, शहडोल जिले के समस्त मेडिकल एवं चिकित्सा संबंधी प्रतिष्ठान इस प्रतिबंध से मुक्त रहेंगे, जिला अंतर्गत समस्त नगरी क्षेत्रों में सब्जी विक्रेता को होम डिलीवरी अथवा डोर टू डोर सुविधा के माध्यम से संचालित किए जाने की अनुमति होगी। जिला अंतर्गत समस्त नगरी क्षेत्रों में सब्जी मंडियां लगाने पर पूर्णत: प्रतिबंध होगा एवं ग्रामीण क्षेत्रों में समझता हाट बाजार पूर्णत: बंद रहेंगे। जिला अंतर्गत समस्त निजी कार्यालय 50% उपस्थिति के साथ खोले जाने की अनुमति होगी। समस्त सिविल निर्माण कार्य कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संचालित किए जा सकेंगे। समस्त रेस्टोरेंट एवं भोजनालय केबल टेक होम डिलीवरी के लिए खोले जाने की अनुमति होगी। अनावश्यक रूप से घूम रहे दो पहिया एवं चार पहिया वाहन चालकों के विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम, मोटर व्हीकल एक्ट एवं अन्य सुसंगत प्रावधानों के अंतर्गत सख्त कार्यवाही की जाएगी।
जारी आदेश में कलेक्टर ने कहा है कि कोविड उपयुक्त व्यवहार- फेस मास्क पहनना एक आवश्यक निवारक उपाय है फेस माक्स पहनने में निम्न का पालन किया जाना चाहिए। अपना मांस लगाने से पहले साथ ही इसे उतारने से पहले और बाद में और किसी भी समय इसे छूने के बाद अपने हाथों को साफ करें। सुनिश्चित करें कि आपकी नाक, मुंह, ठुड्डी पूरी तरह से कवर करें। जब भी आप मास उतारते हैं तो उसे साफ प्लास्टिक बैग में स्टोर करें तथा कपड़े का मास्क है तो उसे प्रतिदिन धो लें और मेडिकल मार्क्स को कूड़ेदान में फेंक दें। सभी सार्वजनिक व कार्य स्थलों एवं परिवहन के दौरान फेस मास्क अपनाना अनिवार्य होगा। नो मास्क नो मूवमेंट का पालन किया जाना अनिवार्य होगा।
उन्होंने जारी आदेश में कहा है कि सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए जहां तक संभव हो प्रत्येक परिवार घर के अंदर ही रहे एवं अन्य बाहरी व्यक्तियों से मेलजोल कम रखें। जिससे कोविड संक्रमण को प्रभावी रूप से रोका जा सके। सार्वजनिक स्थानों में प्रत्येक 6 फीट यानी 2 गज की दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा। भीड़ भाड़ वाली जगह विशेषकर बाजारों, सार्वजनिक परिवहन एवं स्थलों में सामाजिक दूरी बनाए रखना अनिवार्य होगा। स्थलों के प्रभारी व्यक्तियों द्वारा श्रमिक एवं कर्मियों के बीच पर्याप्त दूरी पारियों को बदलने में पर्याप्त अंतराल तथा लंच ब्रेक में उपायुक्त अंतराल आदि के माध्यम से सामाजिक दूरी को सुनिश्चित किया जाए। सभी व्यक्तियों को यह सलाह दी जाती है कि वे अपने ऐसी सतह जो सार्वजनिक संपर्क में है को छूने के उपरांत साबुन और पानी से हाथ धोने अथवा सैनिटाइज करें। उन्होंने कहा है कि सार्वजनिक कार्यक्रमों (जैसे 10 व्यक्तियों की उपस्थिति में शव यात्रा अथवा 20 व्यक्तियों की उपस्थिति में विवाह का आयोजन) में सामाजिक दूरी का पालन किया जाना अनिवार्य होगा हैंडवॉश, सैनिटाइजेशन की व्यवस्था हो तथा सभी शामिल व्यक्ति फेस मास्क लगाएं। इसकी व्यवस्था आयोजकों द्वारा सुनिश्चित किया जाना अनिवार्य होगा।

उन्होंने कहा है कि यदि कोई व्यक्ति इन लॉकडाउन उपायों एवं कोविड-19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय निर्देशों का उल्लंघन करेगा तो उसके विरुद्ध दंड प्रक्रिया की धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 तथा शासन के अन्य सुसंगत प्रावधानों के अंतर्गत दंडनीय होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *